Artificial Intelligence or Machine learning Kya he?

Artificial Intelligence और Machine learning Kya he ? पूरी जानकारी हिन्दी में

आज मनुष्य technology की दुनिया में इतना विकसित हो चूका हे की उसने ऐसे – ऐसे अविष्कार कर लिए हे, जिनके विषय में सोच पाना भी मुस्किल हे। उन्ही अविष्कारों में से एक है Artificial intelligence। 

नमस्कार दोस्तों, इस पोस्ट के माध्यम से आपको Artificial Intelligence or Machine learning Kya he ? पूरी जानकारी हिन्दी में दी जाएगी, तो अगर आप भी AI और ML के बारे में जानना चाहते हे तो इस पोस्ट को अंत तक पूरा पढ़िए।

 

मनुष्य ने अपने जीवन को सरल बनाने के लिए कुछ ऐसी मशीनो का अविष्कार किया हे, जो मानव जीवन में होने वाले हर एक काम को बड़ी आसानी से कर सके। जैसे computer, automobile, internet, advance machines और भी बहुत कुछ।

 

लेकिन आज मनुष्य ऐसी मशीन बनाने के बारे में सोच रहा हे जो इंसानो की तरह सोच सके, काम कर सके, बात कर सके और उसी को Artificial intelligence का नाम दिया गया हे।

आईये इसे संझेप में समझते हे- 

Artificial Intelligence होता क्या हे?

Artificial intelligence जिसे हिंदी में कृत्रिम बुद्धिमत्ता कहा जाता हे, जिसमे कृत्रिम का अर्थ है किसी व्यक्ति द्वारा बनाया हुआ और बुद्धिमत्ता का अर्थ हे ( intelligence ) यानि सोचने समझने की शक्ति। AI computer science की एक branch हे, जो ऐसे machines को विकसित करती हे जो इंसान की तरह सोच सके, और कार्य कर सके।

 जब हम किसी कंप्यूटर को इस तरह तैयार करते हे की वह मनुष्य की तरह कार्य कर सके तो उसे Artificial Intelligence कहते हे। अर्थात जब मनुष्य के द्वारा किसी मशीन में इस तरफ के program सेट किये जाते हे की वो एक मनुष्य की भाती कार्य कर सके उसे Artificial Intelligence कहा जाता है।

 

ये जो इंटेलिजेंस की ताखत होती हे, ये हम मनुष्य के अंदर अपने आप विकसित होती हे। कुछ छू कर, कुछ सुनकर और कुछ सुनकर ही हम ये सोच सकते हे की किस चीज के साथ केसा व्यहवार करना चाहिए, ठीक उसी तरह से कंप्यूटर के अंदर भी एक तरह का intelligence Develop कराया जाता हे, जिसके जरिये computer system या robotic system तैयार किया जाता हे।

 

जो उन्ही तर्कों के आधार पर चलता हे,  जिस आधार पर मनुष्य का मस्तिष्क काम करता हे। कंप्यूटर science के कुछ वैज्ञानिको ने AI की परिकल्पना दुनिया के सामने रखी, जिसमे उन्होंने बताया था की AI concept के द्वारा एक ऐसा कंप्यूटर controlled machine या एक ऐसा software बनाने की योजना बनाई जा रही हे, जो वैसा ही सोच सके जैसा इंसानी दिमाग सोचता हे। मानव सोचने, analyze करने और याद रखने का काम भी अपने दिमाग की जगह पर किसी यंत्र/कम्प्यूटर से कराना चाहता है। इसीलिए artificial intelligence की प्रगति पर जोर दिया जा रहा हे। 

 

Machine Learning क्या हे ?

कंप्यूटर साइंस में AI कोmachine learning के नाम से भी जाना जाता है। machine learning AI का एक हिस्सा हे, जो system को अपने अनुभव से अपने आप ही सिखने और खुद को grow करने की झमता देता है, और इसमें प्राथमिक महत्व computers को खुदसे इंसान के बिना ही सिखने के लिए अनुमति देना होता है। machine learning कंप्यूटर programs के development पर foccus करता हे, जो data एक्सेस कर सके और उसमे अपने आप ही सिख सखे।
जिस तरह मनुष्य अपने अनुभव से नई – नई चीजें सिखते है और अपनी झमता को बेहतर करते है। ठीक उसी तरह AI के programs भी जिसके जरिये machines सिखने का काम करती है। आज के समय में AI और Machine learning के लिए सबसे ज्यादा python programing language का उपयोग किया जाता है।

AI की शुरुवात कहा से और किसने की  

जब इंसान computer system की असली ताखत की खोज कर रहा था, तब मनुष्य के दिमाग ने उन्हें ये सोचने पर मजबूर किया की क्या एक machine भी इंसानो  तरह सोच सकती हे। इसी सवाल से Artificial intelligence  के विकास की शुरुवात हुई, जिसके पीछे केवल एक ही उद्देश्य था, की एक ऐसी बुद्धिमान मशीन की संरचना की जाये, जो की इंसानो की तरह ही बुद्धिमान हो और उनकी तरह ही सोचने, समझने और सिखने की झमता रखता हो। 
अगर स्त्रोतों  की माने तो, सन 1995 में सबसे पहले john McCarthy ने AI शब्द का इस्तमाल किया था। वो एक American कंप्यूटर scientist थे, जिन्होंने सबसे पहले इस technolog के बारे में सन 1956 में एक कॉन्फ्रेंस में बताया था, इसीलिए उन्हें Father of Artificial intelligence भी कहा जाता हे।
Atificial intelligence कोई नया विषय नहीं है, सालो से दुनिया भर में AI पर चर्चा होती रही है। Terminatore, Metrics, Robot, जैसी फिल्मे Artificial intelligence पर ही आधारित हे, जहा रोबोट का स्वरुप दिखाया गया की कैसे वे इंसानो की तरह सोचता हे और काम करता हे।

Artificial intelligence का उपयोग 

Artificial intelligence की लोकप्रियता बड़े ही जोरो – शोरो से बढ़ती चली जा रही है, और आज ये एक ऐसा विषय बन गया हे, जिसकी technology और busniess के छेत्र में काफी चर्चा हो रही हे। कई विशेषज्ञों और industry anallysist का मानना हे, की AI या Machine Learning हमारा भविष्य हे, लेकिन अगर हम हमारे चारो तरफ देखे तो हम पाएंगे की ये हमारा भविष्य नहीं बल्कि हमारा वर्तमान हे। 
Technology के विकास के साथ आज हम किसी न किसी तरीके से AI से जुड़े हुए है, और इसका इस्तमाल भी कर रहे हे। हाल ही में कई कम्पनीओ ने मशीन लर्निंग पर काफी निवेष किया हे, जिसके कारन कई AI products, Apps हमारे लिए उपलब्ध हुए।
तो चलिए अब हम जानेंगे AI के कुछ ऐसे उदाहरण के बारे में जो आज के समय में इस्तमाल किये जाते है- 
1. आप Google के बारे में तो जानते ही होंगे, Google अपने कई छेत्रो में AI का इस्तमाल करता हे, लेकिन google map में AI technology का अच्छा इस्तमाल हुआ हे, google map हमारी location को ट्रैप करते हे और हमे सही location और रास्ता बताने के लिए AI enabled maping का भी इस्तमाल करती हे, और हमे सही rout बताने में मदद करती हे। 
2. आपने Apple phone तो देखा ही होगा, इसकी सबसे लोकप्रिय personal अस्सिस्टेंस सीरी के बारे में भी सुना होगा, सीरी AI का सबसे बेहतरीन उदाहरण हे। इससे आप वो सारी चीचे करवा सकते हे, जो आप पहले इंटरनेट पर type करके किया करते थे। जैसे – मैसेज send करना, इंटरनेट से इनफार्मेशन ढूंढ़ना, कोई एप्लीकेशन open करना, timer set करना अलार्म लगाना आदि। 
इससे आप सभी काम मोबाइल को बिना हाथ लगाए बड़ी आसानी से बोल कर करवा सकते हे। सीरी आपकी भाषा, और सवालो को समझने के लिए Machine learning technology का प्रयोग करती हे। हालाँकि ये सिर्फ iphone और ipade में ही उपलब्ध हे, इसी तरह Alexa device, windows में cortana और Android की पर्सनल अस्सिस्टेंस Google Assistant हे। जो की सीरी की तरह काम करने में उपयोग किये जाते हे। 
3. सबसे लोकप्रिय website Amazon ने भी एक ऐसा revolutionary products launch किया है, जिसका नाम हे- Eco यह आपके सारे सवालों के जवाब दे सकता है। आपके लिए ऑडियो बुक पढ़ सकता है, आपका ट्रैफिक का हाल और वेदर रिपोर्ट बता सकता है, यह किसी भी sport का स्कोर और शेड्यूल भी बता सकता है।
4. AI का इस्तेमाल सिर्फ स्मार्टफोन में ही नहीं बल्कि ऑटोमोबाइल्स के क्षेत्र में भी इसका बहुत ज्यादा उपयोग किया जा रहा है। अगर आप कार पसंद करते हैं, तो आपको Tesla कार की जानकारी जरूर होगी, यह कार दुनिया में उपलब्ध सभी बेहतरीन कारों में से सबसे ऊपर है। टेस्ला कार से जुड़ने के बाद इसमें आपको सेल्फ ड्राइविंग जैसे फीचर्स मिल जाते हैं। इसी तरह की कई सेल्फ ड्राइविंग कारें और बन रही हैं, आने वाले वक्त में यह और अधिक smart हो जाएंगी।
5. AI का इस्तेमाल मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री में भी खूब जोरो से हो रहा है। पहले जिस काम को करने के लिए लाखों लोगों की मदद लेनी पड़ती थी। वही आज मशीन की मदद से जल्दी और बेहतर किया जा रहा है।
6. हम वीडियो गेम्स में भी AI की झलक देख सकते हैं, आज ऐसे कई सारे गेम्स है, जिनमें आपको कंप्यूटर के साथ game खेलना होता है, जैसे “चैस और लूडो” इन सबके अलावा AI का इस्तेमाल स्पीच recognization, कंप्यूटर विजन, रोबोटिक्स, फाइनेंस, वेदर ब्रॉडकास्टिंग, हेल्थ इंडस्ट्री इत्यादि मैं भी होता है।

AI के फायदे

1. Artificial intelligence Error कम करने में हमारी मदद करता है। और अधिक एक्यूरेसी के साथ काम को पूरा करने की संभावना बढ़ जाती है।
2. Artificial intelligence का उपयोग करने से तेजी से निर्णय लेने और कार्य करने में सहायता मिलती है।
3. मनुष्य के विपरीत मशीन को लगातार आराम और रिफ्रेशमेंट की आवश्यकता नहीं होती है। वह लंबे समय तक काम करने के काबिल होती है, ना तो वह रूठते हैं, ना ही विचलित होते हैं और ना ही थकती हैं।
4. AI के मदद से संचार, रक्षा, स्वास्थ्य, आपदा प्रबंधक, कृषि आदि क्षेत्रों में बड़ा बदलाव आ सकता।

AI के नुकसान

1. Artificial intelligence के लाभ अभी ठीक तरह से स्पष्ट नहीं है, लेकिन इसके खतरों को लेकर कहा जा सकता है, की AI के आने से सबसे बड़ा नुकसान मनुष्य का ही होगा।
2. AI मनुष्य के स्थान पर काम करेंगे और स्वयं ही निर्णय लेने लगेंगे। लेकिन अगर उन पर नियंत्रण नहीं किया गया तो इससे मनुष्य के लिए बहुत बड़ा खतरा उत्पन्न हो सकता है।
3. विशेषज्ञों का कहना है, कि सोचने समझने वाले रोबोट अगर किसी कारण या परिस्थिति में मनुष्य को अपना दुश्मन मानने लगे तो मानवता के लिए खतरा पैदा हो सकता है।
4. Artificial intelligence की डिमांड के लिए भारी लागत की आवश्यकता होती है। क्योंकि यह बहुत ही complex मशीन होती है। उनकी मरम्मत और रखरखाव के लिए भारी लागत की आवश्यकता हो सकती है।
5. इसमें कोई शक नहीं है की AI कई सारी नौकरियों को मनुष्य से छीन लेगी, जिसमें भविष्य में बेरोजगारी की संभावना और अधिक बढ़ सकती है।
गूगल के CEO सुंदर पिचाई का कहना है, कि “मानवता के फायदे के लिए हमने आग और बिजली का इस्तेमाल करना तो सीख लिया, पर इसके बुरे पहलु को समझना भी बहुत जरूरी है। इसी प्रकार आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और इसका इस्तेमाल भी हम बहुत से क्षेत्रों में अपने फायदे के लिए कर रहे हैं। लेकिन सच यह भी है, कि इससे बचने का तरीका नहीं ढूंढा गया, तो इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं। क्योंकि तमाम दावों के बावजूद आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के अपने खतरे हैं। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के आने से हमें जो सुविधाएं मिल रही हैं, या आने वाले समय मे इसका मनुष्य पर कैसा असर होने वाला है। इसके बारे में आप क्या सोचते हैं, अपनी राय हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

हमने क्या सीखा

इस पोस्ट के माध्यम से हमने जाना कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है? इसका उपयोग कहां-कहां हो रहा है? इसके क्या फायदे हैं? और इसके क्या नुकसान है? उम्मीद हे इन सभी सवालो से जुड़ी सारी जानकारी इस पोस्ट में आपको मिल गई होगी।आशा करते हैं, कि आपको आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से जुड़ी संपूर्ण जानकारी अच्छी लगी होगी। यदि हां, तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं। साथ ही पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर भी करें ताकि अन्य लोगों तक यह जानकारी पहुंच सके।
Default image
admin

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम राज प्रजापति है,में कंप्यूटर साइंस का विद्यार्थी हूँ और साथ में ब्लॉग्गिंग भी करता हूँ, में इस ब्लॉग पर टेक्नॉलजी, डिजिटल मार्केटिंग,मोबाइल, कंप्यूटर, ब्लॉग्गिंग, मेक मनी ऑनलाइन जैसे विषयो पर अपने नॉलेज और पूरी रीसर्च के साथ हिंदी में जानकारी शेयर करता हूँ.

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.